भतीजी की चूत चुदाई

Bhatiji ki choot chudai ki kahani

हैल्लो दोस्तों, में आर्मी में नौकरी करता हूँ, यह कुछ साल पहले की बात है जब मेरी लाईफ में ऐसा हुआ कि शुरू में ना चाहते हुए भी मैंने अपनी भतीजी को चोदा और यही नहीं शादी के बाद से पहली बार में अपनी पत्नी को छोड़कर किसी दूसरी औरत के साथ सोया था. उन दिनों में शिमला में था. मेरी शादी को 11-12 साल हो गये थे और सब अच्छा चल रहा था.

मेरा एक लड़का 10 साल का था, वो हॉस्टल में पढ़ता था, वो उन दिनों सर्दियों की छुट्टियों में घर आया हुआ था. मेरी एक भतीजी 18-19 साल की थी और वो भी हॉस्टल में थी और हमारे पास आई हुई थी. हमारा बेडरूम काफ़ी बड़ा था और उसमें तीन बेड लगते थे, जहाँ पर मेरी पत्नी, भतीजी और मेरा लड़का सोते थे और में दूसरे कमरे में सोता था.

फिर एक रात को मुझे अपनी पत्नी के साथ सोने की बड़ी इच्छा हुई तो में उसके बेड पर चला गया और उसकी रज़ाई में घुस गया. मैंने सोचा था कि या तो कुछ देर में वापस चला जाऊंगा या फिर पत्नी को जगाकर अपने कमरे में ले जाऊँगा.
फिर मैंने बेड पर जाकर मेरी पत्नी को अपनी बाहों में ले लिया और धीरे-धीरे उसके बदन पर अपना हाथ फैरने लगा और फिर मैंने उसकी सलवार में अपना हाथ डालकर उसकी चूत के आस पास अपना हाथ फैरा तो मुझे कुछ अजीब सा लगा, क्योंकि मेरी पत्नी की चूत पर काफ़ी बाल थे, लेकिन यह चूत तो बिल्कुल चिकनी थी, लेकिन मैंने ज़्यादा ध्यान नहीं दिया कि शायद उसने साफ कर लिए हो.

फिर मैंने उसकी कमीज़ के अंदर अपना एक हाथ डाला और उसकी ब्रा को हटाते हुए उसकी चूचीयों को दबाने लगा और फिर उसके निपल्स को अपनी उँगलियों में लेकर मसला. तो तब मुझे समझ में आया कि जब बेड पर मेरी पत्नी नहीं थी और वहाँ पर मेरी भतीजी सोई हुई थी.

अब मेरी समझ में कुछ नहीं आया, लेकिन एक बार यह पहचान लेने के बाद कि वहाँ पर भतीजी है, तो मेरी और हिम्मत नहीं हुई और में उठकर अपने कमरे में चला गया. फिर अगली सुबह मेरी भतीजी बबली जब मेरे सामने आई, तो वो मुझसे कुछ शरमा रही थी, लेकिन मैंने ज़्यादा कुछ ध्यान नहीं दिया, लेकिन फिर बाद में जब हम कहीं अकेले में थे, तो बबली मेरे पास आई और मुझे तंग करने लगी कि मैंने क्या किया? और फिर मेरे कुछ कहने के पहले ही ज़ोर से मुझे किस करने लगी, अब मुझे कुछ समझ में नहीं आया था.

इसके बाद वो हमारे यहाँ 4-5 दिन रही और फिर हमें जब भी कोई मौका मिलता, तो वो मेरे पास आ जाती थी और हम किस करते थे और में उसकी चूचीयों को खूब दबाता था और उसकी स्कर्ट के अंदर अपना हाथ डालकर उसकी चूत के साथ खेलता था, लेकिन मुझे इससे ज़्यादा करने का मौका नहीं मिला और फिर वो वापस चली गयी.

इसके कुछ दिनों के बाद जब मेरे लड़के की छुट्टियाँ ख़त्म हुई तो में उसे वापस छोड़ने गया तो में अपने साले के घर में ही रहा, तो बबली भी वहीं थी. फिर एक दिन घर में सब बाहर गये थे, मेरा साला और उसकी पत्नी जॉब करते थे और आया घर पर नहीं थी. तो बबली एकदम से मेरे पास आ गयी और मेरी गोद में बैठ गयी, तो में उसको और उसने मुझे चूमना शुरू किया.

फिर मैंने उसकी चूचीयों को खूब दबाया और उसके निपल्स से खेलने लगा, तो उसने जल्दी से मेरी पेंट में अपना हाथ डाल दिया. तो तब मैंने उससे पूछा कि कभी पहले भी किया है? तो उसने मना कर दिया, तो मैंने कहा कि मालूम है क्या करते है?

यह कहानी आप uralstroygroup.ru में पढ़ रहें हैं।

वो बोली कि कुछ-कुछ मालूम है. फिर थोड़ी देर में ही हम दोनों बिल्कुल नंगे हो गये, अब में उसका बदन देखकर दंग रह गया था, उसकी 36 साईज़ की चूचीयाँ एकदम दूध के जैसी सफेद थी और उसके निपल पिंक कलर के थे.

फिर मैंने उसकी चूचीयों को चूमा, तो वो ज़ोर-ज़ोर से सिसकियाँ भरने लगी. फिर जल्दी ही उसने मेरे लंड को पकड़ लिया, जो कि इस समय तक पूरी तरह से खड़ा हुआ था. मेरा लंड 9 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा था.

फिर मैंने उसे छेड़ते हुए बताया कि अब वो उसकी चूत में लंड डालेगा, अब उसका भी दिल तो कर रहा था, बल्कि वो मुझसे ज़्यादा खुली हुई थी, लेकिन थोड़ी डर भी रही थी और कह रही थी कि सहेलियों से सुना तो था, लेकिन इतना बड़ा लंड मेरी चूत में कैसे जाएगा? अब मैंने उसे पूरा गर्म कर दिया था और फिर मैंने उसे सीधा लेटा दिया और उसके चूतड़ के नीचे एक तकिया रखा और उसकी दोनों टांगे पूरी तरह से चौड़ी करके अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर रखकर धीरे-धीरे अंदर करने लगा तो थोड़ी देर में मेरा लंड लगभग पूरा अंदर घुस गया.

अब वो जोर-जोर से शोर मचा रही थी कि दर्द हो रहा है. फिर में भी चुदाई के साथ-साथ उसकी चूचीयों को मसलता रहा और किस करता रहा. फिर कुछ देर के बाद वो शांत हुई तो मैंने उसकी चुदाई शुरू कर दी और ज़ोर-ज़ोर से धक्के लगाने लगा. पहले तो वो थोड़ी डरी, लेकिन फिर उसे भी मज़ा आने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी और नीचे से अपनी कमर ऊँची करके कहने लगी कि और ज़ोर से चोदो, बड़ा मज़ा आ रहा है.

फिर कोई 10-12 मिनट की चुदाई के बाद वो और में दोनों एक साथ झड़ गये. फिर बाद में वो मुझसे बोली कि अंकल बहुत मज़ा आया और कहने लगी कि बाद में भी मेरे पास आएगी. फिर उसके बाद भी जब भी हमें कोई मौका मिला तो मैंने उसकी खूब चुदाई की और आज उसकी शादी हो गयी है, लेकिन अभी भी जब भी वो मेरे पास होती है तो वो मुझसे चुदवाने का कोई ना कोई तरीका निकाल ही लेती है.



"sex stori hinde""maa bete ki hot story""chudai pic""mami sex story""www.sex stories""suhagrat ki kahani""hindi porn kahani""sexy storis in hindi""hindi chut""nonveg sex story""sex hindi stori"mastram.com"hindi chudai ki kahaniya""indian wife sex story""hindi sex kahanya""dirty sex stories in hindi""hot hindi sex story""sex stpry""chut kahani""behen ko choda""bhabi ki chudai""infian sex stories"hindisex"sex stories with pics""chodan. com""hundi sexy story""dost ki didi"chudaai"chodai k kahani""mast chut"phuddi"free sex story""sexy story in tamil""train sex story""brother sister sex story""bhabhi ki nangi chudai""chudai kahania""hindsex story""sexy storis in hindi""bap beti sexy story""chodan khani""hot kahaniya""antar vasana""choot ki chudai""sasur bahu chudai""हिंदी सेक्सी स्टोरीज""sex sexy story""hot sex store""sexstory hindi""sex storie""hindi chudai kahani with photo""anni sex stories""sx stories""hot hindi sex store""sex stories of husband and wife""hot sexy stories"www.kamukta.com"sexy chudai story""latest sex stories"www.hindisex"chudai sexy story hindi""fucking story""chachi ki bur""biwi ki chut""aunty sex story""behen ko choda""indian sex in office""new sex stories in hindi""sex story indian""sex stories with pictures""sex storry""indian sexy khani""hot sexy stories in hindi""kamuk kahaniya""tai ki chudai""sexy story with pic""naukrani ki chudai"