Chut Se Khun Nikala – Bahan Ki Periods Me Chudai

यह मेरी आज की कहानी आप सभी uralstroygroup.ru के पढ़ने वालो को जरुर पसंद आएगी, क्योंकि यह मेरा एक सच्चा सेक्स अनुभव के साथ वो घटना है जिसको में बहुत समय से आप तक पहुँचाने के बारे में सोच रहा था और आज ले आया। दोस्तों में एक 20 साल का मस्त अच्छा दिखने वाला गठीले बदन का लड़का हूँ और मेरी लम्बाई 6 फिट और मेरा भरा हुआ बदन है और में पूरी तरह से संतुष्ट करने वाले सेक्स में पूरा विश्वास रखता हूँ।  Chut Se Khun Nikala.

और मेरी सोच कहती है कि पहले जहाँ तक हो सके अपने घर में ही यह सब करके देखना और इसके बारे में समझना चाहिए, लेकिन कुछ लोगों को यह काम अपने घर में करना बिल्कुल भी पसंद नहीं है इसलिए वो हमेशा बाहर ही इसका जुगाड़ करते है और वो कुछ देर सेक्स करके झड़ जाने के बाद दूर हट जाते है और उनके साथ वाला बिना झड़े ही रह जाता है।  Chut Se Khun Nikala

दोस्तों आप लोग ठंडा दिमाग से सोचो कि जब अगर परिवार में ही माँ, बहन, चाची, कज़िन, मामी, बुआ हो तो उनको अपने इस काम के बारे में बताकर या अपनी तरफ कैसे भी आकर्षित करके यह हमारा काम बन सकता हो तो हम लोग बाहर जाकर अपनी इच्छा को क्यों पूरा करे? हम घर के ही किसी सदस्य के साथ जब यह काम करेंगे उससे बाहर वालों को कुछ पता भी नहीं चलेगा और हमे मज़ा भी उस काम में बहुत आएगा। यह सब मेरे मन के विचार है मेरी सोच यही कहती है।                                               Chut Se Khun Nikala

दोस्तों वैसे हमारे घर परिवार में कभी ना कभी ऐसी घटनाए घट ही जाती है जो आपको अंदर से पूरी तरह झंझोड़कर रख देती है जैसे कभी ग़लती से आप अपनी बहन को कपड़े बदलते हुए देख लेते है या फिर किसी भी लड़की आंटी भाभी या औरत को उसके घर के काम करते समय उसके गोरे उभरे हुए गोलमटोल बूब्स का अचानक से नजर आ जाना या किसी औरत को अपने बच्चे को दूध पिलाते हुए हम गलती से उसके बूब्स को देख लेते है.

उस स्थिति में आपका लंड तन जाता है और आपके अंदर फिर हर एक रिश्ते को एक तरफ रखकर वो जोश जाग जाता है आपके मन में बस वो द्रश्य ही रहता है उसके पीछे के रिश्ते नाते सभी को आप बिल्कुल भूल ही जाते है। दोस्तों में आज एक ऐसी ही घटना आपको सभी को बताने जा रहा हूँ जिसमें मेरे साथ भी कुछ घटित हुआ। मेरे घर में मेरे पापा, मम्मी और मेरी दो बड़ी बहनें रहती है। में उम्र में 20 साल का हूँ और मेरी दोनों बहन मुझसे 2 साल बड़ी है। एक बार मेरी माँ ने मुझे पास की दुकान से कुछ सामान लाने को कहा और फिर उन्होंने मेरे हाथ में एक लिस्ट को थमा दिया।   Chut Se Khun Nikala

में उस दुकान पर जा ही रहा था कि तभी मेरी बहन ने माँ से कहा कि माँ मेरा वो भी खत्म हो गया है और माँ उसकी उस बात का मतलब तुरंत समझ गई, लेकिन में बिल्कुल भी नहीं समझा था। अब मेरी बहन ने उस लिस्ट को मेरे हाथ से ले लिया और उसमे एक बड़ा विस्पर पैकेट लिख दिया। उसके बाद मुझे वो लिस्ट दोबारा पकड़ा दी और उसके बाद में दुकान पर सामान लेने चला गया और में वो सारे सामान खरीदकर ले आया और तब मैंने एक बात पर गौर किया कि उस दुकनदार ने उस विस्पर को एक पेपर में लपेटकर मुझे दे दिया था।

फिर घर आते ही मेरी बहने जिनका नाम पिंकी  और सीता दोनों ने आकर उस विस्पर के पैकेट को मुझसे लेकर कहीं छुपाकर रख दिया था और वो सब कुछ देखकर मेरे मन में यह बात खटकने लगी कि यह क्या चीज़ है जिसको इतने सम्भालकर रखा गया है और इसका क्या मतलब है? तो मैंने उसी रात को अपनी बहन से पूछ लिया कि दीदी वो क्या चीज़ थी जो पेपर में थी और जिसको अपने उठाकर कहीं छुपाकर रख दिया है?     Chut Se Khun Nikala

दोस्तों पहले तो दीदी मेरे मुहं से वो बात सुनकर एकदम घबरा गई, उनके बिल्कुल भी समझ में नहीं आ रहा था कि वो मेरे इस सवाल का क्या जवाब दे? फिर वो थोड़ा सा शांत होकर कुछ सोचकर मुझसे बोली कि यह सब तेरे मतलब का नहीं है तू अब जाकर पढ़ाई कर, लेकिन दीदी ने मुझे उसके बारे में कुछ भी नहीं बताया। एक बार घर पर कोई नहीं था तब मैंने रात के समय अपनी दोनों बहनो को चाय बनाकर दी और फिर मैंने जानबूझ कर उनसे दोबारा फिर से वही पुराना सवाल किया।

फिर इतने में सीता ने मुझे बता दिया कि मेरा अभी पीरियड्स चल रहा है और मुझे इन दिनों में इसकी बहुत ज़रूरत होती है। फिर मैंने उससे कहा कि यह आप अपनी पेंटी में लगाती हो ना? तब मेरे मुहं से यह बात सुनकर वो एकदम से चकित हो गयी और वो कुछ देर सोचकर बोली कि हाँ और उस दिन से हम भाई बहन एक दूसरे से बहुत ज़्यादा घुल मिल गये थे, पिंकी  21 साल की बहुत सुंदर हॉट सेक्सी और वो 34 इंच के बूब्स वाली मस्त लड़की थी और सीता की गांड बहुत मस्त थी, लेकिन उसके बूब्स छोटे थे। मुझे अपनी बहन पर सेक्स के विचार आने लगे थे।                     Chut Se Khun Nikala

एक बार सर्दियों के मौसम में हम सभी लोग हमारे गाँव गए हुए थे और तभी मेरे पापा और मम्मी वहीं गाँव से और कहीं किसी रिश्तेदार से मिलने चले गये उसके बाद बस में मेरी दोनों बहने पिंकी  और सीता अपने गाँव में ही रुक गये और उस समय बहुत ज्यादा ठंड थी और गाँव में लाइट भी नहीं होने की वजह से बहुत ज्यादा अंधेरा था। फिर कुछ देर बाद पिंकी  ने सीता के कान में कुछ कहा, लेकिन वो दोनों अब डर गयी और वो बोली कि तू अकेली चली जा, में नहीं जाउंगी मुझे बहुत डर लगता है।

फिर मैंने उनसे पूछा कि तुम लोग के बीच में ऐसी क्या बात है? तब सीता ने मुझसे कहा कि पिंकी  को टॉयलेट जाना है और उसको अंधेरा होने की वजह से डर लग रहा है। दोस्तों में आप लोगो को बता दूँ कि गाँव में हम लोगों का टॉयलेट कमरे से थोड़ा दूरी पर अलग हटकर था और वहाँ पर बहुत अंधेरा सन्नाटा भी बड़ा था। फिर मैंने मन ही मन खुश होकर उस अच्छे मौके का फ़ायदा उठाकर उसी समय पिंकी  को मेरे साथ टॉयलेट चलने को कहा, पहले तो वो नहीं मानी, लेकिन बाद में वो मुझे अपने साथ ले गयी। वो उस समय सलवार कमीज़ और उसके ऊपर एक स्वेटर पहने हुए थी। में अपने साथ में एक लेम्प लेकर गया था।                                       Chut Se Khun Nikala

उसने टॉयलेट के अंदर जाकर उसका दरवाजा लगा लिया वो दरवाजा बहुत पुराना होने की वजह से उसमे बहुत सारे छोटे बड़े छेद भी थे तभी मैंने एक छेद से अंदर झांककर देखा तो पाया कि पिंकी  अब अंदर खड़ी होकर अपनी सलवार का नाड़ा खोल रही थी और फिर वो अपनी सलवार को नीचे करके अपनी लाल रंग की पेंटी को भी उसके साथ नीचे करके उसी समय नीचे बैठकर पेशाब करने लगी।

यह कहानी आप uralstroygroup.ru में पढ़ रहें हैं।

दोस्तों में आप सभी को बता दूं कि लड़कियाँ जब भी बैठकर पेशाब करती है तब एक बड़ी ही अजीब तरह की मादक आवाज़ आती है और अब वैसी ही वो आवाज़ मेरे कानों में उसके पेशाब करने की वजह से गूँज रही थी उस आवाज को सुनकर मेरा लंड खड़ा हो गया। फिर वो कुछ देर बाद बाहर आ गयी उसके बाद हम दोनों वापस कमरे में चले गये और इस घटना के बाद मेरा जीवन बिल्कुल सा बदल गया था।                             Chut Se Khun Nikala

अब में दिन रात पिंकी  को अपने सपनों में लाकर उसको चोदने लगा था और उसके मज़े लेने लगा था। फिर कुछ दिनों के बाद एक बार फिर से मेरे पापा, मम्मी किसी शादी में बाहर गए हुए थे इसलिए घर पर में पिंकी  और सीता ही थे तब मैंने मन ही मन में सोचा कि अपने सपनों को पूरा करने का बस यही एक अच्छा मौका है। वो गर्मियों का समय था तब पिंकी  एक स्कर्ट पहने हुए थी उसका टॉप गरमी की वजह से आने वाले पसीने से बिल्कुल भीग चुका था और एक साइड से उसके बूब्स का आकार मुझे साफ नजर आ रहा था। रात को सोने के समय में पिंकी  की अलमारी से सीता की एक पेंटी चुराकर ले आया और उसको अपनी पेंट में रखकर में पिंकी  और सीता के बीच में सो गया।               Chut Se Khun Nikala

फिर रात को में अपना पांच इंच का लंड पेंट से बाहर निकालकर अब उसकी पेंटी से रगड़ने लगा था और में उस समय बहुत जोश में था तभी इतने में सीता की नींद खुल गयी और मेरे हाथ में अपनी पेंटी को देखकर वो सबसे पहले उसने अपने स्कर्ट को छूकर देखा तो उसको शायद यह लगा कि मैंने सपने में उसकी पेंटी को खोल दिया हो वो बहुत गबरा गई और वो मुझसे बोली कि यह तुम क्या कर रहे हो? तुम्हे क्या चाहिए में सबको हल्ला करके बता दूँगी? तुम जाओ यहाँ से?

मैंने कहा कि हल्ला मत करो मेरी प्यारी बहन यह तो जिंदगी का मज़ा है अब हम छोटे बच्चे नहीं रहे। अब जवानी आ गयी है और उसके कुछ गुण भी आ गये है, हमारी यह सब इच्छाए तो शादी के बाद पूरी होगी ही, लेकिन क्यों ना इसको थोड़ा सा हम आज ही करके देख ले? पिंकी  भी तब तक हम दोनों कि वो बातें सुनकर उठ गयी थी और मुझे उसके चेहरे से साफ साफ पता चल रहा था कि उसको मेरा कहना एकदम ठीक लगा।

वो भी अपने मन में मेरे जैसे ही विचार रखती है, इसलिए उसने अपनी तरफ से मेरी बातें मेरी उस सोच का बिल्कुल भी विरोध नहीं किया और शायद वो भी अब मेरे साथ सेक्स के मज़े लेने के लिए तैयार थी। फिर कुछ देर बाद ठीक वैसा ही हुआ और मैंने थोड़ी सी हिम्मत करके उन दोनों की स्कर्ट को तुरंत खोल दिया और फिर उनके बाद टॉप को भी उतार दिया था, जिसकी वजह से अब हम तीनों उस समय केवल अंदरगार्मेंट्स में थे और उसके बाद हमारे बीच में वो खेल शुरू हो गया,                                                         Chut Se Khun Nikala

जिसके में बहुत लंबे समय से सपने देखता आ रहा था और फिर उस दिन मैंने पूरी रात भर पिंकी  को बड़े मज़े लेकर चोदा और उनकी वो पहली चुदाई के साथ साथ एकदम टाईट कुंवारी चूत होने की वजह से उन दोनों को बहुत दर्द हुआ और मैंने उनके दर्द को ध्यान में रखकर बहुत आराम से धीरे धीरे उनकी चुदाई के मज़े लिए और फिर मैंने अपना सारा वीर्य सीता के मुहं में डाल दिया और उस रात के बाद हम तीनों धीरे धीरे अनाड़ी से उस खेल में खिलाड़ी बनते चले गए।

हम तीनों ने जब भी जैसा भी हमे मौका मिला हमने उसका फायदा उठाकर चुदाई के पूरे पूरे मज़े लिए और वो हर बार मेरे साथ चुदाई करके बहुत खुश हुई और में उनको चोदकर मज़े लेने लगा था ।                   Chut Se Khun Nikala



"indain sexy story""hindi sex kahania""hind sax store""chodai ki kahani""sister sex stories""indian sex stories group"hindisexstories"desi gay sex stories""hot hindi sexy stores""hot sex stories""हिंदी सेक्सी स्टोरीज""bhai bahan sex store""hindisex stories""devar bhabhi ki sexy kahani hindi mai""hot doctor sex""group chudai ki kahani"mamikochoda"sasur bahu chudai""sex storey com"kamkuta"hindisex katha""tai ki chudai""sex story gand""mast boobs""behan ko choda""sex katha""adult stories hindi""hindi sexy kahniya""sex stroy""choden sex story""hindisexy stores""sexi storis in hindi""sexy story hindhi""hindi sexy khaniya""devar bhabhi sexy kahani""sucksex stories""hindi sexy store com""hindi story hot""sexcy hindi story""real indian sex stories""mast sex kahani""www sexy khani com""chudai bhabhi ki""group chudai""sex stor""adult stories hindi""mausi ki chudai ki kahani hindi mai""maa bete ki sex story"mastram.net"bahan ki chudai story""sex story photo ke sath""sexy story hondi""xxx khani""indian sex stoeies""mast ram sex story""chachi sex stories""indian sex storiez""balatkar ki kahani with photo""indian sex storis""सेक्स कथा""sex stories new""hindi sexy stories""www sexy khani com""gf ki chudai"kamkta"choot story in hindi""meri biwi ki chudai""baap beti sex stories""best sex story""www hindi sex setori com""hot sex hindi""sex story in hindi""hindi sx stories""hindi story sex""hot sex stories""sex com story""hot maa story""sexy chut kahani""hot story hindi me""indian mom and son sex stories""chachi ki chudae"hotsexstory"oriya sex story""free hindi sex store""sexy hindi story""indian sex stoeies"sexstories"sex stories written in hindi""hot story in hindi with photo""sexy kahania""hindi chudai ki story""hindi sax storey"