दीदी की रंडी सहेली ने मेरे लंड के मजे लिए

(Didi Ki Randi Saheli Ne Mere Land Ke Maje Liye)

मेरा नाम नितेश है और मेरी दीदी की एक सहेली जिसका नाम सुधा था, सुधा दीदी को रोज अपनी मम्मी-पापा की सेक्सी बातें बताती थी। फिर एक दिन सुधा ने दीदी से कहा कि आज मेरे पापा मेरी मम्मी को किचन में किचन पट्टी बैठाकर उसके साथ सेक्स करने लगे। फिर दीदी ने पूछा कि तूने कैसे देखा? तो वो बोली कि में बेडरूम में पढाई कर रही थी तो मुझे आआआआआआआ, उई माआआआआआआआ की आवाज़ आई तो मैंने धीरे से दरवाजा खोलकर देखा, तो पापा मम्मी की दोनों टांगो को फैलाकर उसमें सटे हुए थे और मम्मी अपनी आँखे बंद करके आआआआआआअ कर थी। फिर मेरी मम्मी बोली कि ज़रा नीचे उतरो, तो में समझी कि वो बाहर आ रही है तो मैंने झट से दरवाजा अंदर से बंद कर लिया, लेकिन अब भी मुझे मम्मी की मदहोश आवाज़ आ रही थी। मेरे बेडरूम में एक खिड़की थी जो हमेशा बंद रहती थी और मैंने खिड़की के पतले सुराख से देखा तो मुझे वहाँ का सारा नजारा साफ-साफ दिखाई दे रहा था। Didi Ki Randi Saheli Ne Mere Land Ke Maje Liye.

अब पापा-मम्मी की दोनों चूचीयों को अपने मुँह में लेकर चूस रहे थे, उन्होंने मम्मी के ब्लाउज को भी नहीं निकाला था। अब मुझे मम्मी की दोनों जांघे साफ़-साफ़ दिख रही थी और अब मम्मी पूरा मज़ा ले रही थी। फिर यह सब देखने के बाद मेरी चूत में जैसे कोई कीड़ा घूम रहा हो और मेरी चूचीयों पर मेरा हाथ अपने आप चला गया और में धीरे-धीरे उसे सहलाने लगी, जैसे मेरे तन बदन में आग लग गयी हो और फिर मेरे हाथ नीचे पहुँच गये और मेरी बीच की उंगली मेरी चूत में घूमने लगी और मैंने उंगली कब ज़ोर से हिलाई मुझे पता ही नहीं चला और मेरी चूत से पानी गिरा दिया। फिर तो मुझे बहुत ही मज़ा आया था।

फिर दीदी बोली कि ऐसा मज़ा लेना हो तो मेरे घर आजा, में और तुम दोनों एक दूसरे से मज़ा लेंगे। फिर सुधा ने बोला कि आज तुम मेरे घर चलो, में शाम को मम्मी इजाजत से लेती हूँ कि में तुम्हारे घर आज रात प्रॉजेक्ट के लिए चलूंगी। में इसके पहले भी कई बार तो तुम्हारे घर आई हूँ, तो मेरी मम्मी ज़रूर इजाजत देगी। फिर कॉलेज से निकलने के बाद दीदी और सुधा इजाजत लेकर हमारे घर आ गयी। में उस समय घर में नहीं था। फिर जब में बाहर से आया तो मैंने देखा कि सुधा और दीदी मेरे बेडरूम में बैठी थी, तो मैंने सोचा कि आज तो सब चौपट हो गया। अब मम्मी और पापा भी घर में नहीं थे, तो मैंने दीदी से कहा कि दीदी पानी देना। फिर जब दीदी पानी लेने गयी, तो में भी किचन में चला गया और दीदी से बोला कि सुधा कब आई? तो दीदी बोली कि मेरे साथ और आज यहाँ पर ही रहेगी।        “Didi Ki Randi Saheli”

फिर में बोला कि मुझे पहले ही लगा था कि आज की रात अपनी सुहागरात नहीं हो पाएगी। फिर दीदी बोली कि उसकी चिंता मत करो, आज तो तुमको घरवाली और बाहर वाली दोनों साथ में मिलेगी। फिर में बोला कि वो कैसे? सुधा को सब पता है क्या? तो दीदी बोली कि नहीं नितेश तुम सिर्फ़ जल्दी सोने का नाटक करना, में सब काम बनाती हूँ। फिर मम्मी-पापा का फोन आया कि वो बाहर से रात को खाना लेकर आ रहे है। फिर दीदी ने सुधा के बारे में बताया और बोली कि उसके लिए भी खाना लेकर आना, वो भी आज अपने घर पर प्रॉजेक्ट बनाएगी। फिर मम्मी-पापा आए और हम सबने एक साथ डिनर कर लिया और करीब 9 बजे सोने चले गये। फिर दीदी बोली कि नितेश सुधा भी पलंग पर सोएगी, तो तुमको कुछ प्रोब्लम तो नहीं है ना। फिर में बोला कि सोने दो, क्योंकि हमारा पलंग बहुत बड़ा था। अब में किनारे पर, दीदी बीच में और सुधा किनारे पर थी।                     “Didi Ki Randi Saheli”

फिर हम लाईट ऑफ करके सो गये, तो आधे घंटे के बाद दीदी ने सुधा से धीरे से कहा कि अब नितेश सो गया है, आओ शुरू करते है। दीदी तो एक समझदार खिलाड़ी के जैसे मुझसे मज़ा ले चुकी थी, इसलिए उसको सब मालूम था कि कहा से जल्दी सेक्स का मज़ा मिलता है। फिर दीदी ने धीरे-धीरे सुधा के सब कपड़े निकाल दिए। अब सुधा सिर्फ ब्रा और पेंटी में हो गयी थी। फिर दीदी धीरे-धीरे उसके निप्पल को सहलाने लगी तो सुधा जल्दी ही उत्तेजित हो गयी और ज़ोर-जोर से आआआआआ, आआ करने लगी। अब दीदी को भी सेक्स चढ़ने लगा था और अब दीदी अपने चूतड़ मेरी तरफ रगड़ने लगी थी। फिर में झट से दीदी की साईड में घूम गया और अपना लंड दीदी की चूत पर ऊपर से रगड़ने लगा। अब सुधा दीदी के सहलाने का मज़ा अपनी आँखे बंद करके ले रही थी और इधर दीदी ने पीछे से अपनी नाइटी धीरे से उठाकर अपनी पेंटी को थोड़ा सरका दिया था, जिससे मेरा लंड दीदी की चूत में पूरा घुस गया था।         “Didi Ki Randi Saheli”

अब दीदी आआआआ माआआआआअ करके सुधा से चिपक गयी थी और सुधा भी दीदी से चिपक गयी थी। फिर जब दीदी के बूब्स को दबाते हुए सुधा ने दीदी की चूत पर अपना हाथ घुमाया, तो उसने पूछा कि ये क्या डालकर रखा है? तो दीदी हंसने लगी और बोली कि इसी से बहुत मज़ा मिलता है। फिर सुधा बोली कि तो मेरी चूत में भी डाल ना। फिर दीदी ने कहा कि नितेश को जगाना पड़ेगा तो सुधा थोड़ी सी डर गयी और बोली कि क्यों? तो दीदी बोली कि नितेश का ही तो है, तो में भी हंसने लगा। फिर सुधा बोली कि नितेश तुम बहुत नॉटी हो और तुम शुरू से अपनी दीदी की चूत में अपना लंड डालकर रखे हो और में यहाँ खाली हाथ से करवा रही हूँ। फिर मैंने भी आव देखा ना ताव और सीधा दीदी की चूत से अपना लंड बाहर निकालकर बीच में जाकर सुधा से चिपक गया, तो सुधा ने भी मेरा साथ दिया। अब में आपको सुधा के फिगर के बारे में बता देता हूँ, उसकी हाईट 5 फुट 1 इंच, फिगर साईज 32-28-36 था, अब में सुधा के साथ मजे ले रहा था।      “Didi Ki Randi Saheli”

यह कहानी आप uralstroygroup.ru में पढ़ रहें हैं।

फिर मैंने सुधा की ब्रा और पेंटी को निकालकर अलग किया और सुधा के बूब्स को धीरे-धीरे मसलने लगा। अब इधर दीदी मेरा लंड अपने मुँह में लेकर अंदर बाहर कर रही थी। फिर मैंने दीदी और सुधा को साथ में सुला दिया और सुधा की चूत में अपना लंड डाला तो मेरा लंड बड़ी आसानी से सुधा की चूत में घुस गया, क्योंकि सुधा बहुत पानी छोड़ चुकी थी। अब में दीदी के बूब्स को मसलता और सुधा की चूत पर अपने लंड से धक्के लगा रहा था और फिर 10 मिनट तक सुधा की चूत में धक्के लगाता रहा। फिर जब मैंने दीदी की चूत में तीसरी बार अपना लंड घुसाया, तो वो फ़चक-फ़चक पानी गिराने लगी। अब में सुधा की चूचीयाँ छोड़कर दीदी से पूरी तरह से चिपक गया था। फिर मैंने दीदी की दोनों संतरे जैसी चूचीयों को अपने मुँह में लेकर बारी बारी से चूसा और जब दीदी को इंग्लिश स्टाइल में चूमा तो दीदी पूरी की पूरी निहाल हो गयी और ज़ोर-जोर से अपने चूतड़ हिलाने लगी।                     “Didi Ki Randi Saheli”

अब दीदी 20 मिनट में पूरी सुस्त पड़ गयी थी और मुझसे बोली कि बस अब सुधा के साथ कर। अब सुधा तो जैसे तैयार सोई हुई थी, तो सुधा तुरंत मुझसे बोली कि अब मुझे डॉगी स्टाइल में करो, मैंने इसके बारे में बहुत सुना है। फिर में सुधा को तुरंत झुकाकर डॉग शॉट लगाने लगा। अब वो भी मेरे हर शॉट का जवाब अपने चूतड़ हिला-हिलाकर दे रही थी आआआआआआअ, आह बहुत मज़ा आ रहा है नितेश सैया, ज़ोर से और ज़ोर से और ज़ोर से। फिर कुछ देर के बाद वो बोली कि बस अब थोड़ा आराम दो, मेरी टाँगे दुख रही है। फिर मैंने सुधा को पलंग पर सीधा लेटा दिया और उसकी दोनों गोरी- गोरी चूचीयों को सहलाने लगा और उसकी चूत के दाने को भी धीरे-धीरे मसलने लगा। अब वो चिल्लाने लगी थी राजाआाआ मत सताओ, अब ज़रा जल्दी से अपना लंड घुसाओ। फिर में अपना लंड सुधा की चूत में घुसाकर सुधा की चूत को चोदने लगा।                 “Didi Ki Randi Saheli”

अब नीचे से सुधा अपने चूतड़ को रेल के इंजन के पहिए जैसे हिलाने लगी थी। फिर करीब आधे घंटे के बाद सुधा की चूत में से जो पानी गिरा ऐसा लगता था कि कोई नल फट गया हो। अब इधर सुधा की मदमस्त सिसकारी बंद होने का नाम ही नहीं ले रही थी। अब सुधा पानी छोड़ते हुए कराहने लगी थी और बोली कि थोड़ा दर्द हो रहा है। तो में बोला कि पहली बार है तो थोड़ी तकलीफ़ होगी। तो सुधा बोली कि अब थोड़ा आराम दो। फिर मैंने दीदी को उठाया और उसके साथ शुरू हो गया। मुझे दीदी की चूचीयाँ बहुत पसंद है गोरी-गोरी सफेद चूची पर निप्पल का काला टीका मेरे लंड को बार-बार उन्हें चोदने को मजबूर कर देता था। फिर में दीदी के निप्पल को धीरे-धीरे सहलाने लगा। अब उनके दोनों निप्पल एकदम काले जामुन जैसे कड़क हो गये थे और मेरा लंड जैसे दीदी की चूत फाड़ देगा। इस तरह से दीदी की चूत में अंदर बाहर होने लगा था। अब में कभी दीदी के निप्पल दबाता, तो कभी दीदी की जीभ को चूस लेता था, तो दीदी आआआआआआ, उई नितेश आआआआआआ की आवाजे निकालती और दीदी से पूरी तरह सट गया था।                  “Didi Ki Randi Saheli”

अब दीदी इतना होने पर धीरे-धीरे अपना पानी छोड़ने लगी थी। मुझे दीदी की चूत का पानी बहुत अच्छा लगता है तो मैंने झट से दीदी की चूत पर अपना मुँह लगा दिया और धीरे-धीरे दीदी की चूत का पानी पीने लगा। अब दीदी एकदम मस्त आवाजे निकालने लगी थी और फिर में दीदी कि चूत का एक-एक बूँद पानी पी गया। अब दीदी एकदम निढाल होकर पलंग पर सो गयी थी और बोली कि नितेश आज तो तुमने जन्नत दिखा दी। फिर में बोला कि दीदी थोड़ा और करो, मेरा अभी तक गिरा नहीं है। फिर दीदी बोली कि आज तुम्हारा सुधा गिराएगी, सुधा का वजन दीदी से कम था तो मैंने सुधा को उठाकर अपनी बाँहों में भर लिया। फिर सुधा बोली कि इतना मज़ा आएगा मैंने सपने में कभी नहीं सोचा था। अब सुधा एक बार फिर से सहवास करने लगी थी और 1 घंटे में थक गयी और बोली कि बस और नहीं। फिर तब दीदी उठी और मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी और करीब 20 मिनट तक चूसती रही। फिर में भी दीदी की चूचीयों को सहलाता रहा, तो थोड़ी देर के बाद मेरा भी वीर्य गिर गया और दीदी ने मेरे वीर्य की एक-एक बूँद को पी डाली। अब सुधा यह सब देख रही थी, तो दीदी बोली कि सब ख़त्म। फिर सुधा बोली कुछ तो गिरा ही नहीं, तो दीदी बोली कि सब मेरे पेट में चला गया और एक बार दीदी फिर से मुझसे लिपट गयी। अब इस बार सुधा भी दीदी के साथ मेरे लंड को साईड-साईड से चूमने लगी थी, तो तभी घड़ी का अलार्म बजा और हमने देखा कि 4 बज चुके थे। अब पापा के उठने का समय हो गया था, तो हम सबने जल्दी से अपने कपड़े पहनकर सही ढंग से सो गये और फिर हमें जब कोई मौका मिला तो हमने खूब चुदाई की और खूब मजा किया ।                       “Didi Ki Randi Saheli”



"tanglish sex story""hot desi sex stories""maa beta sex kahani""bhai behan sex stories""bhai ne""www.hindi sex story""sexstory in hindi""mami sex""honeymoon sex stories""sex story hindi""हिन्दी सेक्स कथा""mother son sex story in hindi""rishto me chudai""indian sex in hindi""hindi sex stroy""train sex story""husband and wife sex stories""mother son sex story in hindi""full sexy story""hindi kahani hot""sex in story""bahu ki chudai""chachi sex story""mom and son sex story""hot sex hindi story""suhagraat stories""school sex stories""indian sex srories""sex story wife""sex stories in hindi""first time sex story""sex story very hot""hot story with photo in hindi""hindi sx story""maa ki chudai ki kahaniya""indian forced sex stories""hindi chudai kahaniya""sexi stories""behan ko choda""xossip story""jija sali sex story"लण्ड"hot sexy story""six story in hindi""indian desi sex story""chudai pics""indian porn story""sex kahani""kamukta. com"रंडीindiansexstorirs"hindi true sex story""mastram ki sexy story""first time sex story""sexi new story""choti bahan ko choda""kamvasna khani""jija sali sex story""hindi secy story"hotsexstory"dex story""kamukta new story""devar bhabhi sexy kahani""wife sex story""mastram chudai kahani""hot sexy stories""naukar ne choda""indian xxx stories""sexi khaniya""saxy story"kamkuta"mom ki sex story""aunty ki chut""chachi hindi sex story""chachi ki chudai in hindi""new sexy storis""www.sex story.com""sex stori""chodna story""mother and son sex stories""hindi sx stories""sex kahani hindi""lesbian sex story""jija sali""latest sex stories""hot stories hindi"