मौसी से सेक्स ज्ञान-1

Mosi Se Sex Gyan-1

काम के सभी पुजारियों को माही के लहराते लण्ड का सादर प्रणाम।

आपने मेरी कहानी

वो पूस की एक रात

पढ़ी होगी।

अब एक नई दास्ताँ लेकर हाजिर हूँ, सही बताऊँ तो सबसे पुरानी दास्ताँ !

मित्रों काम ही इस संसार का नियामक तत्व है यही बाकी सभी क्रियाओं का मूल है और फ्रायड ने इसे सिद्ध भी किया है।

काम को न तो भाषा की जरूरत है ना काम किसी बंधन की परवाह करता है यह तो प्रकृति की अविरल धारा है जो कभी भी कहीं भी फूट सकती है।

मैं उस समय बीए सेकेंड ईयर में पढ़ता था, उम्र यही कोई अठारह साल थी। उस समय लण्ड का आकार सात इंच हो चुका था। तने होने पर पैंट के ऊपर से इसे साफ़ महसूस किया जा सकता था और सुबह के वक्त तो यह चड्डी को बिल्कुल तम्बू बना देता था इसीलिए मैं हमेशा चादर ले कर सोता था।

गर्मियों की बात थी, मेरी सगी मौसी मेरे घर आई हुई थी। मम्मी की सबसे छोटी बहन…. नाम है निम्मी।

मौसी की शादी पास के ही एक गाँव में हुई थी और मौसा जी खेती करते थे।

मौसी अक्सर किसी न किसी काम से लखनऊ आती थी तो वह हमारे घर जरूर आती थी। पर मैं पिछले कुछ महीनों से देख रहा था कि वो मम्मी से अकेले में बड़ी देर तक अपना दुःख सुनाती थी। मैंने उनको कहते हुए सुना था कि मौसा जी का गाँव की किसी विधवा औरत से चक्कर चल रहा था और वो मौसी में बिल्कुल रुचि नहीं लेते थे। वे अक्सर रात को खेत की रखवाली के बहाने उस औरत के घर पर पड़े रहते थे। मौसी अपनी 12 साल की बेटी के साथ अक्सर घर में अकेले रात बिताती थी।

सच में किसी के पति का लण्ड उसकी सूखी चूत को हरी करने की बजाये किसी गैर औरत की चूत में घुसे, यह उस औरत के लिए अपमान की बात है।

माँ के कहने से मौसी ने मौसा जी को बहुत समझाया, दुआ-तावीज़ भी कराया पर उल्टे कई बार मौसा ने उनकी पिटाई कर दी थी। अब तो मौसी ने जैसे हालात से समझौता कर लिया था, वो कई कई दिन हमारे घर रहती थी, गाँव से आती थी तो एक-आध दिन रुक कर ही जाती।

हाँ वो जब भी मुझे मिलती थी तो पकड़ कर गालों पर बहुत चुम्मी लेती थी, मेरा मुन्ना कह कर ! और मुझे उनकी साँसों की गंध ऐसी बुरी लगती कि मैं उनसे हाथ छुड़ा कर भागता- अरे मौसी, अब मैं बड़ा हो गया हूँ !

यह देख मेरी माँ हंस देती।

ऐसे ही गर्मी की वो रात थी, माँ, पिताजी और मेरा छोटा भाई छत पर खुली हवा में सोते थे, केवल मैं रात देर रात तक पढ़ाई के कारण नीचे सोता था। उस दिन भी देर

रात तक पढ़ कर मैं अपने कमरे में पड़े तख्त पर सो गया।

यह कहानी आप uralstroygroup.ru में पढ़ रहें हैं।

रात को अचानक मेरी नींद खुल गई जब मुझे लगा कि कोई मेरा हाथ पकड़ कर खींच रहा है। अँधेरे में मैं समझ गया कि यह मौसी थी वो मेरा हाथ खींच कर अपने चूचियों पर रख कर ऊपर से अपने हाथ से दबा रही थी। मेरे बदन में करेंट सा लगा। मौसी अपने ब्लाउज के बटन आगे से खोले थीं, उनके बड़े बड़े चुच्चे मेरी हथेलियों के नीचे थे, उस पर मौसी का हाथ था और वो अपने हाथ से मेरी हथेली दबा दबाकर अपने चुच्चे मसल रही थी और हल्के से कराह भी रही थी।

मेरे लण्ड में आंधी-तूफ़ान चलने लगा, मैं बंद आँख से भी मौसी की खूब गोल-गोल भरी भरी चूचियों को महसूस कर सकता था, कई बार ब्लाउज से आधी बाहर झांकती देख चुका था उनको !

पर आज जाने क्या को रहा था मुझे? कामवासना का भूत मेरे सर चढ़ चुका था। मन तो किया कि ऊपर चढ़ कर मैं खुद मौसी की चूचियों को रगड़ कर रख दूँ और उनकी टांगों को फैलाकर उनकी चूत का सारा रस पी लूँ और उनकी टांगें फैला कर बुर में ऐसा लण्ड पेलूँ कि वो वाह-वाह कर उठें औररात भर अपनी टांगें न मिला सकें। लेकिन मेरे मन में डर था कि कहीं मौसी इतना सब कुछ न करना चाहती हों और वो घर में सब को बता दें तो?

यही सोच कर मैं सोने का नाटक करने को मजबूर होकर तड़पता रहा। मौसी ने मेरे हाथों को पकड़ कर अपने चुच्चे खूब मसलवाये फिर मुझे पकड़ कर अपनी और घुमा लिया और मेरे ओंठों को अपने अपने होंठों में लेकर चूसना शुरू कर दिया।

मैं अभी भी आँखें बंद किये था, मेरा लण्ड झटके पर झटके खा रहा था मेरे लण्ड की हालत समुन्दर में प्यासे मगर्मच्छ के जैसी थी। तभी मौसी ने अपनी एक टांग उठा कर मेरे ऊपर ऐसे रखी कि मेरा लण्ड उनकी गर्म-गर्म रान के नीचे दब गया।

मैंने महसूस किया कि उनकी मैक्सी कमर तक ऊपर थी। जीवन में पहली बार इतनी चिकनी टांग मैंने अपनी टांग पर सटी हुई महसूस की, बहुत ही गर्म और केले की जैसे चिकनी बेहद नरम जांघें थी, शायद एक भी बाल नहीं होगा उन पर।

मेरे लण्ड का पानी छूटने को हो गया पर डर गया कि मौसी सब जान जायेंगी कि मैं जग रहा हूँ। मैंने पूरी ताकत लगा कर लण्ड को कंट्रोल में किया हुआ था।

अब मौसी की चूचियाँ मेरे सीने से रगड़ रही थी, मेरे होंठ उनके होंठों के बीच में थे, उनकी एक बांह मेरे ऊपर से होते हुई मेरी पीठ को सहला रही थी। मेरे कुंवारे लण्ड की अग्नि परीक्षा हो रही थी और मैं ससम्मान इसमें उत्तीर्ण होने का भरसक प्रयास कर रहा था।

अचानक मेरे ऊपर उनकी नंगी टांग और चढ़ गई। मैंने धधकती चूत की गर्मी को अपने लण्ड के बिल्कुल करीब महसूस किया। मुझे कहने में कोई शर्म नहीं कि जीवन में पहली चूत का स्पर्श मुझे मेरी मौसी जी ने दिया। मेरी चड्डी में खड़े लण्ड का लालच मौसी से रोका न गया वो मेरे सात इंच के लण्ड पर चड्डी के ऊपर से ही हाथ फिराने लगी थी और लण्ड पर हाथ रखते ही वो कराह उठीं जैसे उनके सारे जिस्म के दर्द की दवा उन्हें मिल गई हो।

यह कहानी कुल चार भागो में है, शेष आगे की कहानी अगले भाग में-



"kamukta com hindi me""wife sex stories""hindi sexi""makan malkin ki chudai""bahan ki chudai kahani""hot chudai ki story""चुदाई कहानी"chudai"sexy story kahani""chudai sex""sex stories with images""hindi adult stories""hot sex story""real sex story in hindi language""biwi ki chudai""kahani porn""mausi ko pataya""hindi kahani""सेक्सी कहानियाँ""online sex stories"sexyhindistory"risto me chudai""saxy hindi story""chachi ko jamkar choda""hindi sexy storay""gay sex story in hindi""boor ki chudai""chudai ki kahani in hindi"sexstories"साली की चुदाई""kajol ki nangi tasveer""odia sex stories""mom ki sex story""sexy story mom"hindisexystory"wife sex stories""bhai behan sex""mother son sex story""meri chut me land""saxy kahni""इंडियन सेक्स स्टोरीज""sex khaniya""hiñdi sex story""mami ki chudai story""sexy story marathi""hindi sexi storise""mausi ki chudai""sey story""sex stories group""jija sali sex stories""chut chatna""hindi sexy store com"sexstory"maa ki chudai""romantic sex story""mastram chudai kahani""sex stroy""desi girl sex story""lund bur kahani""aunty chut""chachi sex stories""indian hot sex stories""meri pehli chudai""hindi sexy stor""पहली चुदाई""maid sex story""chudai ki kahani hindi me""oriya sex story""hindi sax""porn stories in hindi language""best sex story""hot sex stories in hindi""hindi sexi""behan ki chudai hindi story""jabardasti sex ki kahani""barish me chudai""hot khaniya""हिंदी सेक्सी स्टोरीज""antarvasna mobile""हिंदी सेक्स स्टोरीज""sexstories in hindi""sex story mom""hindhi sex""mom chudai story""www kamukta sex story""indian sex syories""सेक्स स्टोरी इन हिंदी"sexstories"hindi sex storie""sec story""hindi sexy story hindi sexy story""sex storiesin hindi""sex story indian""हिन्दी सेक्स कथा""www hindi sex storis com""group chudai story""sexi stories""sali ko choda""naukrani ki chudai"