परिवार में सबके साथ धुंआधार चुदाई 1

(Parivar me sabke sath dhuwadhar chudai 1)

मै राजवीर राजस्थान से हूँ।
मेरे परिवार में बहुत सी चूते है।
मैंने बहुत चूते मारी है, लेकिन सबसे पहली चुत मैंने मेरी मौसी की मारी थी।
अब मैं सबका आपसे परिचय करवा देता हूं।
सबसे पहले मेरी बड़ी मामी नाम- मीनाक्षी उम्र- 55 साल विधवा, फिगर 40c-38 42, रंग- सांवला।
अब मेरी बड़ी मामी की लड़की प्राची उम्र- 30 साल शादीशुदा, फिगर 36b-34 40, रंग- सांवला।
बड़ी मामी की बहू आकांशा उम्र- 33 साल शादीशुदा, फिगर 32b-30 34, रंग- गौरा।
अब छोटी मामी सुमित्रा उम्र- 53 साल शादीशुदा, फिगर 34b-33 36, रंग- गौरा।
छोटी मामी की लड़की ग़ज़ल उम्र- 31 साल शादीशुदा, फिगर 38b-34 40, रंग- गौरा।

अब मेरी बड़ी मौसी जय उम्र- 58 साल विधवा, फिगर 34b-32 36, रंग- सांवला।
छोटी मौसी हेमा उम्र- 54 साल शादीशुदा, फिगर 42d-36 46, रंग- गौरा, कद छोटा, शक्ल बिल्कुल विद्या बालन जैसी और पूरे खानदान में सबसे मोटे मुममे और गाँड़।
छोटी मौसी की बहू नाविका- उम्र- 28 साल शादीशुदा, फिगर 34b-32 38, रंग- गौरा।
अब मेरी मम्मी मधुबाला उम्र-56 साल, शादीशुदा, फिगर 38c-36 38, रंग- गौरा।
अब मेरी दीदी दीपिका उम्र- 35 साल, शादीशुदा, फिगर 34c-36 40, रंग- गौरा बड़ी गाँड़।

मैं राजवीर 25 साल का हूँ मेरा लण्ड 8 इन्च लम्बा है और गोलाई 4 इंच है।

मैंने जीवन की सबसे पहली चुदाई मेरी छोटी मौसी के साथ जो पंजाब में रहती है, जो 54 साल की है और थोङी मोटी है के साथ की, उसके बाद उसने मुझे बहुत सी चूते दिलवाई।
चुदाई से पहले मैंने कभी मौसी के बारे मे ऐसा कुछ नही सोच था, मैं अपनी मौसी को माँ की तरह ही मानता था और मौसी भी मुझे अपने बेटे जितना ही प्यार करती थी, मौसी का बेटा और मैं एक ही उम्र के है तो हम दोनों बहुत अच्छे दोस्त भी है और जब भी मैं मौसी के घर जाता था तो वहाँ हुम सब एक ही रूम में सोते थे, सबसे पहले मौसा, फिर उनका लड़का, फिर मौसी और मौसी के साथ मैं। मैं जब मौसी के साथ सोता था तो मेरी आदत थी कि अपना हाथ मौसी के पेट पर और अपना एक पैर मौसी की मोटी मोटी जांघो पर रख कर सोता था, मौसी को भी इस बात से कोई दिक्कत नही थी, बल्कि वो भी मुझे कस कर गले लगा कर सोती थी। लेकिन तब भी कभी कुछ गलत नही सोचा था। मौसी बहुत बार मुझे अपने गले लगती थी और मेरे गाल पर किस करती थी, पर वो माँ बेटे का प्यार था।

तो अब मैं कहानी शुरू करता हुँ 5 साल पहले हम सभी मेरी तीन मौसीयाँ तीन मामा और हमारा परिवार हरिद्वार घूमने
गये। हम 35 लोग थे, इसलिए हमने एक बस बुक की ताकि सब आराम से जा सके। मेरे बड़े मामा और हम एक ही शहर में रहते है, बाकी सब अलग अलग शहरों में रहते है तो ये निश्चय हुआ कि सब मामा के घर इक्कठे होने का प्लान बनाया की यहाँ से सुबह जल्दी निकलेंगे। सुबह जल्दी निकलना था इसलिए सब एक दिन पहले ही मामा के घर आ गए, लेकिन मैं और मेरी छोटी मौसी का लड़का देव जो मेरी ही उम्र का है, हम दोनो हमारे घर चले गए सोने क्योकि हमारा घर मामा के घर के पास ही है। हम हमारे घर आये और मम्मी पापा के बेडरूम में सोने का सोचा क्योकि वहाँ टीवी था, हम दोनों रात मम्मी पापा के बैडरूम में टीवी देखने लगे और 3 घंटे बाद का अलार्म लगा लिया, तभी टीवी पर एक हॉलीवुड मूवी में हीरोइन टॉपलेस आ गयी, उसे देख कर हम दोनो गर्म होने लगे, मैंने सिर्फ कच्छा पहना हुआ था, मेरा लन्ड उसमे से फुला हुआ दिखाई दे रहा था।

देव और मै अच्छे दोस्त थे और एक दूसरे को अपनी सभी बातें बताते थे तो उसके सामने कोई शर्म नही थी, देव मेरे कच्छे का उभार देख कर कहा कि लगता है बहुत गर्म हो गया तू, मैंने कहा, हाँ देव अब तो मुठ मारने का मन कर रहा है, तो उसने बोला कि ब्लू फिल्म लगाते है, तो हम ब्लू फिल्म देखने लगे। ब्लू फिल्म में एक मल्लू आंटी तो लड़को के साथ चुदवा रही थी, एक लड़का तो दूसरे लड़के का लन्ड भी चूस रहा था, ये देख कर मेरा लन्ड कच्छा फाड़कर बाहर आने को हुआ तो मैंने अपना कच्छा उतार कर लन्ड हिलाना शुरू कर दिया, मेरा लन्ड देख कर देव बोला इतना बड़ा, तो मैंने कहा तेरा दिख।

ये सुन देव ने भी अपना कच्छा उतार दिया, जब मैंने उसका लन्ड देखा तो वो मेरे लन्ड का आधा था। फिर हम दोनो लन्ड हिलाने लगे, तभी मूवी में एक लड़का दूसरे का लन्ड चूसने लगा, ये देख मैं बोला की काश कोई मेरा भी लन्ड चूसे तो उसने बोला की चल हम एक दूसरे की मुठ मारते है, फिर हम एक दूसरे का लन्ड हिलाने लगे, 2 मिनट बाद ही देव जोर जोर से आवाज़ निकालनें लगा और वो झड़ गया, पर मेरा लन्ड वैसे ही खड़ा था, तो मैंने उसे कहा कि भाई प्लीज्, मेरा लन्ड चूस ले, पहले उसने मना किया, पर बहुत कहने पर मान गया और फिर उसने मेरे लन्ड के टोपे पर अपनी जीभ लगाई। आआहाहहहहहहहह मुझे लगा जैसे मैं जन्नत में हु, फिर उसने टोपे को अपने मुँह में ले लिया।मैं तो पागल होने लगा, फिर वो आधा लन्ड मुँह में डाल कर चूसने लगा। 5 मिनट में मेरा पानी उसके मुँह में निकल गया, जो उसने मेरे पेट पर थूक दिया, फिर में बाथरूम में गया और खुद को साफ किया।

फिर देव मेरा लन्ड हाथ में लेकर सो गया, 1 घंटे बाद अलार्म बजा तो हम दोनों उठे, मैंने चाय बनाई, चाय पीकर हम फ्रेश हुए और एक साथ नहाने गए, नहाते हुए देव ने फिर मेरा लन्ड चूसा।
फिर तैयार होकर हम मामा के घर चले गए, 5 मिनट में हम मामा के घर गए।

5 मिनट में हम मामा के घर पहुंच गए, तो अभी कोई तैयार नही हुआ था, सब चाय पी रहे थे। मेरी मम्मी, छोटी मौसी ओर दोनो मामीयां किचन में सबके लिए रास्ते के लिए खाना बना रही थी, देव और मैं किचन में गए तो मेरी मम्मी पुरिया तल रही थी, छोटी मामी पैक कर रही थी, मेरी छोटी मौसी और बड़ी मामी दोनो नीचे बैठ कर पुरिया बेल रही थी, जिस से उनके बड़े बड़े मुम्मे हिल रहे थे, बड़ी मामी ने नाइटी पहनी थी, जिसमे मुम्मे बहुत ज्यादा हिल रहे थे, मैंने इस बात पर ध्यान नही दिया पर देव ने मुझे इशारा कर के वहां देखने को कहा, तो मामी को देखते हुए मेरा ध्यान मौसी पर भी गया, तो उसके मुम्मे सबसे बड़े थे, वो भी हिल रहे थे, पर मामी से कम, फिर मैंने देखा कि देव मेरी मम्मी के मुम्मे घूर रहा है, ये देख कर मुझे गुस्सा आया। फिर मैंने देखा कि मम्मी के मुम्मे भी बड़े है। फिर हम वहां से बाहर आये तो
देव- कैसे लगे मामी के मुम्मे, राज- मस्त है, पर वो अपनी मामी है
देव- सब रिश्ते चुदाई के होते है, चुदाई कभी रिश्ता नही देखती, मैं भी तो तेरा भाई हु, फिर भी तेरा लन्ड चूसा।
राज- पर भाई ये सब गलत है, हमे ये सब नही सोचना चाहिए।
देव- ऐसे कुछ नही होता, मैंने तो मेरी मम्मी मौसी के मुम्मे भी देखे, मम्मी के मुम्मे कैसे हिल रहे थे, और मौसी का पसीना उनके गले से होता हुआ उनके मुममों में जा रहा था।
राज- ये क्या बकवास कर रहा है तू, अपनी माँ और मौसी के बारे में।

देव- चुप कर, तू भी तो मेरी माँ के हिलते मुम्मे देख रहा था।
राज- सॉरी देव, पर ये गलत है
इतने में मौसी की आवाज आई कि राज जरा इधर आना बेटा, तो मैं किचन में गया और देव भी मेरे साथ था। किचन मे ऊपर से एक डिब्बा उतारना था। उसके लिए मुझे बुलाया था, क्योकि घर मे सबसे ज्यादा हाइट मेरी है, 6 फ़ीट ओर देव 5.5 । वो डिब्बा काफी ऊंचा था इसलिए मुझे भी स्टूल पर चढ़ना पड़ा उसे उतारने के लिए, जब मैं स्टूल पर चढ़ा तो छोटी मामी मेरे पास खड़ी थी डिब्बा लेने के लिए क्योकि उनको डिब्बा चाहिए था, जब मैं डिब्बा उतारने के लिए ऊपर चढ़ने लगा तो मेरी नज़र बड़ी मामी और मौसी के हिलते मुममों पर गयी, जिस से मेरा लन्ड पाजामे में टाइट हो गया और थोड़ा उभार दिखने लगा। जब मैं डिब्बा उतार रहा था मुझे लगा कि मेरे लन्ड पर कुछ लगा है, नीचे देख की मेरा लन्ड छोटी मामी के मुह पर लग रहा है और सभी औरते ये देख कर स्माइल कर रही है। देव भी किचन के बाहर से सब देख रहा था, फिर मैंने डिब्बा उतार कर मामी को दिया और जाने लगा तो मौसी पुरिया बेल चुकी थी और मुझसे बोली कि आज मेरे बेटे ने मुझे गले तो लगाया ही नही और मुझे गले लगा लिया, जिस से मेरा खड़ा लन्ड उनके पेट पर लगने लगा, तो उन्होंने मुझे ओर जोर से गले लगाया, और होठों के बिल्कुल पास किस कर दिया। फिर मैं किचन से बाहर आ गया।

बाहर देव खड़ा था।
देव- तेरा लन्ड कैसे खड़ा है, मेरी माँ को देख कर।
राज- नही भाई, वो तो वैसे ही खड़ा हो गया।
देव- झूठ मत बोल, मैं बाहर से सब देख रहा था, की छोटी मामी ने अपना मुंह तेरे लन्ड पर लगाया, सब हंस रही थी, मेरी माँ भी तेरा खड़ा लन्ड महसूस करने के लिए तुझे गले लगाया।
राज- ऐसा कुछ नही है, मौसी तो वैसे भी मुझे गले लगती है
देव- पर आज की तरह कस कर तो नही।
इतने में हमारे और भी कजिन तैयार हो गए थे, तो हम चुप हो गए।
अब लेट हो रहे थे, सब सामान भी बस में रख दिया। अभी टाइम था तो मैं और देव छत पर चले गए और सिगरेट पीने लगे।
अब बस मेरी मम्मी, मौसी और मामियों का नहाना बाकी था,
एक ही बाथरूम की वजह से लेट हो रहे थे तो उन्होंने सबको बाहर जाने को कहा और चारो नंगी होकर आँगन में ही नहाने लगी। उन्हें नही पता था कि देव और मैं छत पर है और ना ही हमे पता था कि वो नीचे नंगी नहा रही है। जब हमने सिगरेट पी ली तो हम नीचे आने लगे। हमने सीढ़ियों मेआँगन से आती हुई आवाज़े सुनी।

यह कहानी आप uralstroygroup.ru में पढ़ रहें हैं।

मेरी मीनाक्षी मामी, सुमित्रा मामी को कह रही थी कि तूने आज राजवीर के लन्ड को छुआ, तो कैसा लगा। फिर सभी हँसने लगी। मैं और देव सीढ़ियों से सब सुन ने लगे।
सुमित्रा- भाभी राजवीर का लन्ड तो बहुत बड़ा लग रहा था, मैं तो हरिद्वार में मौका देख कर चुदवा लूंगा उस से।
मीनाक्षी- अरे! मैं तो बस में ही राज को पटा कर उसका लन्ड चुसुंगी।
तभी हेमा मौसी बोली- जब मैंने राज को किचन में गले लगाया था तो उसका लन्ड मेरी नाभि में चुभ रहा था, मेरा तो मन कर रहा था कि अभी चुदवा लू उस से, बहुत बड़ा लन्ड है उसका, जब वो मेरे साथ सोता है तो मैंने कई बार छुआ है उसका लन्ड।

माँ बोली- हाँ मेरे बेटे का लन्ड बहुत बड़ा है, मैंने भी कई बार उसको उसके कमरे में मुठ मारते देखा है, मेरा तो बहुत मन करता है कि जाके उसको कहु की बेटा मुठ मत मार, आजा मुझे चोद ले। पर वो मेरे बेटा है, इसलिए मैं कुछ नही कर सकती, पर तुम तीनो तो मज़ा लो उसके लम्बे मोटे लन्ड का।
हेमा- कोई बात नही, जब मैं राज से चुदवाऊंगी तब तू देख कर मजे लेना।
मीनाक्षी मामी- अरे मधु, क्यो फिक्र करती है, तू देव को पटा ले, वो भी तो जवान है।
माँ- हाँ ये ठीक है, तुम तीनो राज का लन्ड लो और मैं देव का लन्ड लुंगी।

तभी मौसी बोली- देव को पटाने के कोई फायदा नही, उसका लन्ड भी उसके बाप की तरह लूली ही है, मैंने देखा है, पूरे खानदान में राजवीर का लन्ड ही सबसे बड़ा है।
मम्मी- कोई बात नही, में देव का लन्ड मालिश कर के बड़ा कर दूंगी।
मीनाक्षी मामी – हे भगवान, हेमा तूने क्या पूरे खानदान के लन्ड देखे है क्या?
मौसी- हाँ, देखे क्या, मैंने तो लिए भी है सबके, तुम तीनो के पतियों का भी लिया है पर आज तक घर और बाहर जितने भी लन्ड लिए है, राज का सबसे बड़ा है, अब उसका लुंगी।

ये सब बाते सुन कर मैं और देव एक दूसरे की तरफ देखते रह गए कि हमारे खानदान की औरतें कितनी बड़ी रंडियां है। और हमारे लन्ड खड़े हो गए, तो देव ने जब मेरे पाजामे में उभार देखा तो वो मेरा लन्ड पकड़ कर हिलाने लगा।
माँ- क्या तूने दोनो भाइयो और अपने जीजा को भी नही छोड़ा। कितनी बड़ी रांड है तू।
मौसी- (इतराते हुए) हाँ सबका लिया है, पर साला किसी मे दम नही की मुझे शांत कर दे और तू कौनसी कम है, तूने भी तो मेरे पति का लिया है।
उधर मीनाक्षी मामी बोली – हेमा तेरी चुचियाँ इतनी बड़ी है तेरे भाई यानी मेरे पति ने की ह क्या इतनी बड़ी चुचियाँ जैसे उसने चूस चूस कर मेरी कर दी।

मौसी – हाँ भाभी, भईया ने ही मेरी चुचियाँ चूस चूस कर बड़ी की थी।
सुमित्रा मामी- मेरा पति भी बहुत बड़ा चुसक्कड़ है, चुत भी बहुत चाटता है और चोदता भी मस्त है
मम्मी- मेरा पति तो मुझे रोज चोदता है, अपने बड़े लन्ड से उनका भी 9 इंच का है।
सुमित्रा ममी- हाँ मैंने लिया है, जीजा का लन्ड मस्त है।
मम्मी- भाभी तुमने भी मेरे पति का लिया है।
मीनाक्षी मामी – मैंने भी लिया है।
मम्मी- तुम सब रंडियां हो।

हेमा- रंडी क्या, मुझे तो जहां मौका मिलता है मैं तो लन्ड ले लेती हूं, पर साला आज तक कोई मुझे संतुष्ट नही कर पाया।
माँ- कितनी बड़ी रांड है तू। कहते हुए माँ ने मौसी की चूची दबा दी, तो बड़ी मामि ने भी मौसी की चुचियाँ दबाना शुरू कर दिया।
इतने में मौसा की आवाज़ आयी बाहर से की गेट खोलो, कोई सामान रह गया अंदर।
तो मौसी ने गेट खोला।
फिर पापा और मौसा अंदर आये तो उन्होंने देखा की चारो रंडियां नंगी होकर नहा रही है।
फिर वो सामान उठा कर बस में रखकर सबसे नज़र छुपाकर वापिस अंदर आ गए और गेट बंद कर दिया।



"six story in hindi""kuwari chut story""kaumkta com""sex xxx kahani""mother son sex story""teacher student sex stories""hindi new sex store""hot sexy kahani""www sex store hindi com""hot sex story""sexy hindi kahaniya""full sexy story""www hindi sex setori com""hot chudai ki story""biwi ki chudai""maa bete ki hot story""porn stories in hindi language""classmate ko choda""hindisex stories""hindi story sex""hindi hot sex""hot hindi sex stories""www.hindi sex story""latest hindi sex stories""behan bhai ki sexy story""hottest sex story""chut lund ki story""sex with sali""चुदाई की कहानियां"hindisexstories"hindi story hot""sex stories in hindi""hot hindi sex""new hot kahani""sex storiez""sex story with image""devar bhabhi sexy kahani""chut land hindi story""chodai ki kahani""nangi bhabhi""maa beta ki sex story""raste me chudai""bhai bahan ki sexy story""chudai ki khani""indian sex stoties""bhai behen sex""hot kahaniya""sexi kahani""first sex story""chachi hindi sex story""hot story""sexe store hindi""indian sex stries""gand chudai story""gaand chudai ki kahani""mom son sex story""aex story""kamkuta story""dost ki wife ko choda""hondi sexy story""teacher ki chudai""first time sex stories""sex kahani hot""chachi ko choda""group chudai story""mother son hindi sex story""maa ki chudai ki kahaniya""kamukta video""beti ki choot""hindi adult stories""kamukta video""randi ki chudai""brother sister sex story in hindi""desi hindi sex stories""antarvasna bhabhi""kajol ki nangi tasveer""sexy story"