पति के दोस्तों के साथ मनायी सुहागरात

(Pati Ke doston Ke Sath Manayi Suhagrat)

मेरी पिछली कहानी
पति के बिना घर में एक रात
में आपने पढ़ा कि मेरा पति रोहन अपने दोस्त के घर चला गया. उसने मुझे बताया कि वह अपने बाकी दोस्तों के साथ किसी दूसरे दोस्त की बीवी की चुदाई करके आयेगा. इसलिए मैंने भी एक कॉल बॉय बुलाकर अपनी चूत की चुदाई करवा ली.
सुबह होने के बाद मैंने मसाज भी करवाई और फिर मैं स्वीमिंग पूल में नहाने के लिए चली गई. नहाते हुए घर की डोर बेल बजी तो मैं ब्रा और पैंटी में दरवाजा खोलने के लिए बाहर आई.

अब आगे:

मैंने दरवाजा खोला तो रोहन के साथ उसके दो दोस्त भी आये थे. मैं उन दोनों को पहले से जानती थी लेकिन यह नहीं जानती थी कि वो आज घर पर आने वाले हैं. उनमें से एक का नाम एलेक्स और दूसरे का जॉन था. मैंने दोनों को बारी-बारी से गले लगाया. अभी मैंने सारोंग ही पहना हुआ था. लेकिन नीचे से मेरी पैंटी दिख रही थी. एलेक्स को गले लगाते हुए मुझे महसूस हुआ कि उसका खड़ा हुआ लंड मेरी पैंटी के ऊपर से मेरी चूत पर टच हो रहा है.

जब मैंने जॉन को हग किया तो उसका लंड भी खड़ा हुआ था. वो दोनों मुझसे बातें करते हुए मेरे बूब्स की तरफ देख रहे थे. मेरी ब्रा छोटी ही थी इसलिए मेरे बूब्स बाहर निकलने को हो रहे थे. आधे तो बाहर ही दिखाई दे रहे थे. मैं जान-बूझ कर छोटी ब्रा पहनती हूँ जैसा कि मैंने आप लोगों को पहले भी बताया है.

उन तीनों के अंदर आने के बाद मैंने उनसे कहा कि मैं कपड़े बदल कर वापस आती हूँ. मेरा पूरा बदन भीगा हुआ था और मेरी भीगी हुई ब्रा और पैंटी जैसे पारदर्शी होकर मेरे चूचे और चूत के दर्शन रोहन के दोनों दोस्तों को करवा रही थी. मैंने रूम में जाकर अपनी ब्रा और पैंटी को निकाल दिया और फिर अलमारी से एक काले रंग की ब्रा और पैंटी का सेट निकाल लिया. उसको पहन कर मैंने ऊपर से एक गाउन भी पहन लिया.

नीचे आने के बाद मैं रोहन के पास जाकर बैठ गई. हम चारों में बातें शुरू हो गयीं.

जॉन- अंजलि, तुम इस ब्लैक गाउन में बहुत ही सेक्सी लग रही हो.
मैं- थैंक्स जॉन।
मैं- रोहन कल रात कैसी रही आपकी?
रोहन- अंजलि, मजा आ गया कल की रात में तो!
मैं- ओह, ये तो अच्छी बात है.

एलेक्स- अंजलि, तुम भी एक बार करके देखो, तुम्हें भी मजा आएगा.
मैं- नहीं, मुझे अपने पति के सामने इस तरह किसी और के साथ सेक्स करने में सहज नहीं लगेगा.
जॉन- लेकिन एक बार ट्राई करने में क्या जाता है?
मैं- नहीं, फिर कभी सोचूंगी.

उन दोनों को मैंने मना कर दिया. फिर मैं कॉफी बनाने चली गयी और वापस आकर हम सब साथ में कॉफी पीने लगे. जब मैं रोहन के साथ बैठी थी तो एलेक्स और जॉन मेरे बूब्स को ही देख रहे थे क्योंकि मेरी नाईटी के ऊपर के दो बटन खुले थे। फिर थोड़ी देर बाद एलेक्स और जॉन चले गए.

मैं और रोहन रूम में आ गए. रोहन ने मुझसे कहा- चलो हम आज बाहर शॉपिंग करने चलते हैं.
रोहन की यह बात सुनकर मैं तो शॉक हो गयी क्योंकि रोहन बहुत कम शॉपिंग पर जाते हैं.
मैंने कहा- ओके, मैं तैयार हो जाती हूँ.

मैंने कबर्ड से एक मिनी ड्रेस निकाली और जल्दी से रेडी हो गयी. रोहन और मैं शॉपिंग के लिए निकल गए. थोड़ी देर बाद हम मॉल में पंहुच गए. वहां हम एक लेडी गारमेंट्स की शॉप में गये और फिर वहां से मैंने मेरे लिये कुछ ड्रेसेस लीं। फिर रोहन मुझे एक लेडी अंडरगार्मेंट्स की शॉप में ले गए.
अंडरगार्मेंट शॉप में जाते हुए मैंने रोहन को मना कर दिया क्योंकि मेरे पास पहले से ही बहुत सारे अंडरगार्मेंट थे.
रोहन ने कहा- ले लो, क्या पता तुम्हें जरूरत पड़ जाए.

मैं रोहन की बात समझ नहीं पाई और हम शॉप में अंदर चले गये. रोहन ने सेल्स मैन को बुलाया और वह बोला- मैडम को ब्रा-पैंटी दिखाओ.
उसने कहा- ओके सर!
उसने मुझसे ब्रा का साइज पूछा. वैसे तो मेरी ब्रा का साइज 36 है पर मैंने 32 का बता दिया.
उसने कहा- यह आपको छोटा आएगा.
मैंने कहा- नहीं आप दिखाओ.

फिर उसने बहुत सारे सेट निकाल कर दिखाए.
रोहन ने कहा- मैं तुम्हारी मदद कर देता हूँ पसंद करने में.

फिर रोहन ने मेरे लिए कई सारी पारदर्शी अंडरगार्मेंट पसंद कर दी. उसके बाद शॉप से बाहर आकर हमने लंच किया और फिर हम शाम को घर आ गए। रूम में आकर मैंने अपनी मिनी उतार दी और रोहन को ब्रा पैंटी पहन कर दिखाई. ब्रा बहुत टाइट आ रही थी.

मैं पहन कर देख रही थी कि रोहन ने कहा- अंजलि, मैं तुमसे कुछ कहना चाहता हूँ.
मैंने कहा- हाँ, बोलो?
रोहन- आज जब एलेक्स और जॉन घर आये थे तो वो मुझसे कुछ पूछ रहे थे. मैं तुम्हें वो बताना चाहता हूँ.
मैंने कहा- क्या पूछ रहे थे?
रोहन- वो बोले, यार अगर तेरी बीवी के साथ एक बार सेक्स करने को मिल जाए तो मजा आ जायेगा!

मैं रोहन की तरफ देख रही थी.
रोहन ने कहा- मैंने उन्हें मना कर दिया था. लेकिन वो जिद करने लगे. फिर मैंने उनको बोल दिया कि मैं अपनी बीवी अंजलि से ही बात करके बताऊंगा.
मैं उसकी बात सुनकर चकित हो गई थी.
रोहन ने फिर सफाई देते हुए कहा- वैसे मुझे तो कोई परेशानी नहीं है लेकिन तुम्हारी परमिशन भी तो जरूरी है.
रोहन ने मस्का लगाते हुए कहा- तुम एक बार करके देख लो, अगर अच्छा नहीं लगा तो हम फिर कभी ऐसे नहीं करेंगे.

मैंने रोहन की बात का कोई जवाब नहीं दिया. उसके बाद हम दोनों बेडरूम में आ गए. रोहन और मैंने रात को खूब चुदाई का मजा लिया. चुदाई खत्म होने के बाद रोहन तो सो गया लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी. मैं रोहन की कही बात के बारे में सोच रही थी. मैंने सोचा कि एक बार करके देख लेती हूं, वैसे रोहन भी तो उनकी बीवियों को चोदते हैं, क्या पता मुझे भी मजा आये?

बहुत देर सोचने के बाद मैंने फैसला कर लिया कि मैं सुबह होने के बाद रोहन को इसके लिए हाँ कर दूंगी.

सुबह उठी तो रोहन भी उठ गए थे. मैंने रोहन को गुड मॉर्निंग विश किया और एक किस दी। मैंने रोहन से बोल दिया कि जिस बात के बारे में हम रात को बात कर रहे थे मैं उसके लिए तैयार हूँ. मगर आपको भी मेरे साथ होना होगा और मैं केवल एक बार ही करूँगी!
रोहन ने कहा- थैंक्स अंजलि.

मेरी बात सुनकर रोहन खुश हो गया था. उसने कहा कि वो ब्रा और पैंटी भी मैंने तुम्हें इसीलिये दिलवाई थी. उसके बाद मेरे पति ने अपने दोस्तों को फोन कर दिया. मैं भी रोहन के दोस्तों के साथ चुदने को लेकर एक्साइटेड हो रही थी.
चूंकि मुझे रोहन के दोस्तों के लंड से चूत चुदवानी थी तो थोड़ी वैक्सिंग भी करवानी थी, इसलिए रोहन ने भी बोल दिया कि मसाज ब्वॉय को बुला कर मैं अपनी बॉडी की मसाज और वैक्सिंग करवा लूँ. मैंने मालिश वाले को बुला लिया.

मेरे रूम में जाकर मैंने मसाज शुरू करवा दी. उसने मेरी दोनों जांघों की वैक्सिंग की. फिर मेरे दोनों हाथों की और फिर मेरी पीठ की. मैंने उसको चूत की वैक्सिंग करने के लिए भी बोल दिया. उसने मेरी चूत पर वैक्स लगाई और उसे भी साफ कर दिया. फिर उसने मेरी पूरी बॉडी की मसाज भी कर दी.
लगभग एक घंटे की मसाज लेने के बाद मैंने उसे वापस भेज दिया. वैक्सिंग के बाद मेरी पूरी बॉडी चमक रही थी और मेरी बॉडी पर एक भी बाल नहीं नजर आ रहा था. उसने मेरी चूत को भी अच्छे तरीके से वैक्स कर दिया था!

वैक्सिंग के बाद मैंने शावर लिया. रोहन ने आज सर्वेंट स्टाफ को छुट्टी दे दी थी. घर पर मैं और रोहन ही थे. हम दोनों नीचे आ गए. लिविंग रूम में हम एलेक्स और जॉन का इंतजार करने लगे. थोड़ी देर बाद डोर बेल बजी और मैंने गेट खोला तो एलेक्स और जॉन आ गए थे. अंदर आने के बाद मैं रोहन के साथ बैठी थी और वो दोनों हमारे सामने बैठे हुए थे.

रोहन ने कहा- जाओ अंजलि, सबके लिये बीयर ले आओ!
मैंने कहा- ठीक है. मैं फ्रिज से सबके लिये बीयर लेकर आती हूँ.

उसके बाद मैं अंदर किचन में चली गई और बीयर लेकर आ गई. मैंने ही सबको पेग बना कर दिए.
एक पेग पीने के बाद मैंने उनसे कहा कि वो बैठकर इंजॉय करें और मैं तब तक तैयार होकर आ जाती हूं.

रोहन ने कहा- तुम यहाँ मत आना, हम लोग ही ऊपर आ जायेंगे.
मैंने कहा- ठीक है. मैं तैयार हो जाती हूँ.

मुझे पता था कि मुझे रेडी होने में टाइम लगेगा और वो लोग ऊपर आ जायेंगे इसलिए मैं बाथरूम में आ गयी थी. फिर मैंने अपना गाउन उतारा और फिर पूरी बॉडी पर अच्छे से क्रीम लगाई. फिर मैंने ब्रा और पैंटी पहन ली. दोनों ही छोटे साइज की थी. ब्रा मेरे बूब्स को संभाल नहीं पा रही थी. बस मैंने उन्हें अपने बदन पर फंसा रखा था. फिर मैंने नाईटी भी डाल ली जो कि मेरी पैंटी तक ही आ रही थी.
नाईटी ट्रांसपेरेंट थी और उसमें से मेरी ब्रा-पैंटी सब कुछ साफ दिख रहा था.

रोहन और उनके दोस्त रूम में आ गए थे. बाथरूम के अंदर ही मुझे उनकी आवाज सुनाई दे रही थी. फिर मैंने जल्दी से हील्स पहन ली जो कि मैं बाथरूम में अपने साथ ही लेकर घुसी हुई थी. अपने बालों को खोल लिया और हल्का सा मेक-अप भी कर लिया. पूरी पॉर्न स्टार बनना चाहती थी मैं आज रोहन के दोस्तों के सामने.

जब काफी देर हो गई तो मुझे रोहन की आवाज आई- अंजलि कितनी देर और लगेगी?
मैंने कहा- आ रही हूं बस!

मैं थोड़ी नर्वस हो रही थी और शर्म भी आ रही थी. लेकिन फिर मैंने सोचा कि एक बार करने के बाद सब नॉर्मल हो जायेगा. फिर मैंने बाथरूम का गेट खोला.
बाहर आते हुए देखा तो एलेक्स और जॉन बेड पर बैठे थे और रोहन काउच पर बैठे थे. रोहन के दोनों ही दोस्त मुझे आँखें फाड़ कर देख रहे थे और उनकी आँखों में एक अलग ही हवस भरी हुई थी. अपनी कमर मटकाते हुए मैं बेड के पास पहुंच गयी. मेरे पास जाते ही एलेक्स और जॉन खड़े हो गए.

एलेक्स ने रोहन से कहा- रोहन आ जाओ, माल बिल्कुल तैयार हो गया है.
रोहन ने कहा- तुम शुरू करो, मैं तो रोज़ करता हूं.

रोहन के कहने पर एलेक्स मेरे सामने आ गया और मुझे किस करने लगा. उसने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और मुझे अंदर तक डीप किस करने लगा. दूसरे हाथ को वह मेरी चूत पर फेरने लगा था. 5 मिनट तक चली चुम्मा-चाटी के बाद अब जॉन भी आ गया. उसने भी मुझे किस करना शुरू कर दिया.

अब एलेक्स ने मेरे नाईटी की लैस खोल दी और नाईटी उतार कर फेंक दी. वो दोनों मुझे बेड पर ले गए और मुझे लेटा दिया.
फिर एलेक्स ने मेरी ब्रा पर ऊपर से एक किस किया. मुझे अब मजा आने लगा था. जॉन मेरी जांघों को चाट रहा था. फिर जॉन ने मेरी ब्रा का हुक खोल दिया और मेरे बूब्स को आज़ाद कर दिया. जॉन मेरे बूब्स चूसने लगा और एलेक्स मेरी पैंटी के पास चला गया. उसने मेरी पैंटी उतार दी और ऊपर की तरफ जॉन मेरे बूब्स चूसने लगा.

एलेक्स ने अपने होंठ जैसे ही मेरी चूत पर रखे मेरी आह … सी निकल गयी. वो दोनों मेरे बूब्स और चूत को चूस रहे थे और मैं अब जोर-जोर से सिसकारियाँ ले रही थी. उसके बाद एलेक्स अब मेरे तने हुए चूचों के पास आ गया और जॉन मेरी चूत के पास चला गया. दोनों मुझे चूस रहे थे.

यह कहानी आप uralstroygroup.ru में पढ़ रहें हैं।

थोड़ी देर बाद एलेक्स और जॉन खड़े हो गए. मैंने उन दोनों के कपड़े उतारने शुरू कर दिये. मैंने एलेक्स की शर्ट उतारी और उसकी छाती को नंगी कर दिया. उसकी छाती ज्यादा मजबूत तो नहीं दिख रही थी लेकिन फिर भी अच्छी लग रही थी.

रोहन की छाती ज्यादा मजबूत थी उसके मुकाबले में. फिर मैंने नीचे बैठ कर एलेक्स की पैंट को खोल दिया और जैसे ही मैंने पैंट को खोल कर उसे नीचे उतारा अंडरवियर में उसका लंड तना हुआ झटके दे उठा. वो काफी देर से उत्तेजित लग रहा था.

एलेक्स ने अपनी पैंट को अपने पैरों से अलग कर दिया और वह केवल अंडरवियर में खड़ा था. उसकी बगल में खड़ा हुआ जॉन अपने कपड़े खुद ही उतार रहा था. मैंने एलेक्स के अंडरवियर को भी खींच लिया और उसे बिल्कुल नंगा कर दिया. उसका लंड देख कर मेरा मुंह खुला रह गया. उसका लंड बहुत बड़ा और मोटा था. उसके लंड के मुंह पर पानी लगा हुआ था जो उसके सुपारे पर चिकनाहट पैदा कर रहा था.

मैंने जॉन को देखा तो उसने अपने पूरे कपड़े उतार दिये थे और वो नंगा होकर अपने लंड को हाथ में लेकर हिलाने लगा था. उसके बाद मैंने एलेक्स के लंड को मुंह में ले लिया और उसको चूसने लगी. जॉन मेरे पास आ गया और उसने मेरे हाथ में अपना लंड दे दिया. मेरे मुंह में एलेक्स का लंड था और हाथ में जॉन का. जॉन का लंड भी अच्छा था लेकिन एलेक्स से थोड़ा कम बड़ा था.

मैं उन दोनों के लंड को मजा दे रही थी तभी पीछे से मेरे पति रोहन भी आ गये. वो भी नंगे हो चुके थे. एक तरफ जॉन था, बीच में एलेक्स और दूसरी तरफ रोहन आकर खड़ा हो गया. उसने मेरे दूसरे हाथ में भी अपना लंड दे दिया. अब मेरे पास तीन-तीन लंड हो गये थे. एक हाथ में जॉन का लंड था और मुंह में एलेक्स का. दूसरे हाथ में रोहन का लंड था जिसे मैं हिला हिला कर और ज्यादा कड़क बना रही थी.

उन तीनों के मुंह से कामुक आवाजें निकलने लगी थी और मेरी चूत से कामरस निकलना शुरू हो गया था. एलेक्स अपना लंड मेरे मुँह में डाल कर मेरी गर्दन आगे-पीछे कर रहा था. थोड़ी देर बाद उसने अपना लंड बाहर निकाल दिया और रोहन ने अपना लौड़ा अंदर डाल दिया. मैंने एलेक्स का लंड अपने हाथ में ले लिया और हिलाने लगी. रोहन अपना लंड मेरे मुँह में डाल कर हिला रहे थे.

अब नीचे से जॉन ने अपना हाथ मेरी चूत पर रख दिया. उसका हाथ लगते ही मैं मचल उठी. मेरे मुंह से कामुक सिसकारियाँ निकलने लगीं. फिर थोड़ी देर बाद जॉन ने भी अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया. अब मेरे मुँह में दो लंड थे. मैं दोनों लंड को एक साथ संभाल नहीं पा रही थी.

एलेक्स जाकर बेड पर लेट गया. फिर रोहन और जॉन ने भी अपना लंड मेरे मुंह से निकाला और मुझे छोड़ दिया. मेरी सांसें फूलने लगी थीं. मैं हाँफ रही थी. एलेक्स ने मुझे अपने पास आने का इशारा किया तो मैं बेड पर उसके पास चली गई. ऊपर जाने के बाद उसने मुझे अपने ऊपर बिठा लिया. मेरी चूत एलेक्स के होंठों के ऊपर जा लगी.
उसने अपनी जीभ मेरी चूत में डाल दी और मेरी चूत चाटने लगा. मैं तो जैसे पागल सी होने लगी थी. मुझे बहुत मजा आ रहा था लेकिन इतनी उत्तेजना को मैं बर्दाश्त नहीं कर पा रही थी. लग रहा था जैसे मेरे अंदर से कुछ निकलने वाला है. मैंने अपने एक हाथ से एलेक्स को रोकने की कोशिश की लेकिन वो नहीं रुक रहा था.
फिर रोहन और जॉन भी बेड पर आ गये और मेरे मुंह में दोनों ने फिर से एक साथ लंड डाल दिये. नीचे मेरी चूत में जीभ का मजा आ रहा था और ऊपर मेरे मुंह में दो लंड आ फंसे थे. मैं कुछ बोल भी नहीं पा रही थी. एक घंटे तक ऐसे ही चलता रहा. फिर जॉन ने मुझे लेटा दिया और तीनों मेरे जिस्म को चाटने लगे.

रोहन मेरे बूब्स चूस रहा था तो एलेक्स मेरे होंठ. जॉन मेरी चूत चाटने लगा. मैं उत्तेजना में बह सी गई थी. इतना मजा मुझे पहले कभी नहीं आया था. उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओ माय गॉड … उफ्फ … अम्म … आह्हा … स्स्श… मैं तो जैसे आनंद में बहने सी लगी. वो तीनों मेरे जिस्म के साथ खेल रहे थे. मैं उत्तेजना में चिल्ला रही थी और उन तीनों में से कोई भी रुक नहीं रहा था.
कुछ ही देर में मेरी चूत ने फव्वारा छोड़ दिया. जॉन ने अपनी पूरी जीभ मेरी चूत में घुसा दी. फिर थोड़ी देर बाद रोहन ने अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया और एलेक्स का लंड फिर से मेरे हाथ में आ गया था!

काफी देर तक चुसाई होने के बाद एलेक्स ने मुझे घोड़ी बना दिया और अपना लंड मेरी चूत में डालने लगा. चूंकि उसका लंड बहुत ही ज्यादा बड़ा था इसलिए वो अंदर नहीं जा रहा था. फिर उसने मेरी चूत पर थूक लगाया और फिर से लंड को चूत पर रखा. लंड को सेट करने के बाद उसने जोर से धक्का मारा तो उसके लंड का सुपाड़ा अंदर चला गया. मेरी चीख निकल गयी. फिर उसने अपना लंड धीरे धीरे करके पूरा का पूरा अंदर डाल दिया और धक्के लगाने लगा.
दर्द के मारे मैं चिल्ला रही थी- एलेक्स धीरे! … आह्ह … धीरे बेबी … आह्ह … आह्ह … जान … आराम से … ओह्ह दर्द हो रहा है डार्लिंग!

मेरा दर्द थोड़ा कम हुआ ही था कि जॉन ने भी अपना लंड मेरी गांड के पास रखा और अंदर डाल दिया.
मेरी गांड में लंड डालने के बाद उसने भी धक्के लगाना शुरू कर दिया. मैं दर्द से फिर चीख पड़ी- रुक जाओ जल्लादो! मेरी चूत और गांड फट जायेगी. आह्ह … उईई … माँ … आह्ह … आहह … ओह्ह!
दर्द के साथ-साथ मैं तीनों लंड एक साथ लेने का अहसास भी कर रही थी जो मुझे मजा भी दे रहा था.

एलेक्स और जॉन की स्पीड हर पल तेज हो रही थी. उन दोनों के मुंह से आह्ह … आह्ह … की आवाजें तेजी से आने लगी थीं. मैंने रोहन के लंड को अपने हाथ में लेकर रगड़ना शुरू कर दिया था. कुछ देर के बाद मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आने लगा. तीन लंड मेरे जिस्म को भोग रहे थे. मुझे सेक्स का असली मजा आज ही आया था. तीन मर्दों से एक साथ चुदने में इतना मजा हो सकता है मैंने कभी सोचा नहीं था.

एलेक्स ने लगभग 15 मिनट तक मेरी चूत की ठुकाई की और फिर वो रुक गया. उसके बाद मेरे पति रोहन आए और उन्होंने अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया. एलेक्स का लंड मेरे हाथ में था. रोहन और जॉन दोनों धक्के मार रहे थे. थोड़ी देर बाद जॉन झड़ गया और फिर एलेक्स वापस मेरी गांड की चुदाई करने के लिए आ गया और धक्के लगाने लगा.

एलेक्स का मोटा लंड गांड में घुसा तो दर्द से मैं फिर चीख पड़ी. एलेक्स ने लंड को पूरा गांड में घुसा दिया और मेरी गांड की गहराई में उतर कर उसकी चुदाई करने लगा. उधर रोहन मेरी चूत को चोद रहा था.

कुछ मिनट के बाद रोहन भी झड़ गए. रोहन ने अपना लंड मेरी चूत में खाली कर दिया और एलेक्स ने मेरी गांड में. वो तीनों एक बार शांत हो गये.

थोड़ी देर का विराम देने के बाद एलेक्स ने अपना लंड फिर से मेरे मुंह में दे दिया. साथ ही रोहन ने भी अपना लंड मेरे मुंह में डाल दिया और मेरे सिर को पकड़ कर मेरे मुंह को आगे पीछे करने लगे. जॉन ने अपना लंड मेरे हाथ में दे दिया और मैं उसको हिलाने लगी. दस मिनट में ही तीनों के लंड फिर से खड़े हो गये.

जॉन ने मुझे लेटा दिया. अब रोहन का लंड मेरी गांड में था और जॉन का लंड मेरी चूत में और एलेक्स का मेरे मुँह में. तीनों फिर से धक्के लगाने लगे. लम्बी चुदाई के बाद तीनों थोड़ी-थोड़ी देर के अंतर के बाद झड़ गए.

मेरी हालत खराब हो गयी थी लेकिन उन तीनों ने मुझे नहीं छोड़ा. उस रात रोहन, एलेक्स और जॉन ने मिलकर मुझे कई घंटे चोदा. उन तीनों ने मिलकर मेरी चूत सुजा दी.

मैं लगभग बेहोशी की हालत में पहुंच गई थी. सुबह होने को थी और सब एक बिस्तर पर नंगे बदन गिर कर एक-दूसरे से लिपट कर सो गये. मेरा बदन इतना दुख रहा था कि कोई मेरी चूत में तीन लंड भी डाल दे तब भी मुझे पता न चले.

इस तरह मेरे पति ने अपने दोस्तों के साथ मिल कर मेरे जिस्म को जमकर भोगा और मैंने भी उन तीनों के लंडों का स्वाद एक साथ चखा.

आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी, इसके बारे प्लीज कमेंट करके जरूर बतायें और अगर आप मुझसे मैसेज पर बात करना चाहते हैं तो मेल करें. मेरी मेल आई-डी मैंने नीचे दी हुई है. मैं जल्दी ही अपनी अगली गर्मा-गर्म कहानी के साथ लौटूंगी. तब तक सभी अपने लंडों को हिलाते रहें. धन्यवाद!



"sexi khaniya""चूत की कहानी""hindi sexy kahniya""mastram ki kahani"hindisixstory"www hindi hot story com""sexy storis in hindi""sasur se chudwaya""himdi sexy story""kuwari chut ki chudai""lesbian sex story""wife sex story in hindi""desi incest story""hindi sexy storu""sexy suhagrat""bibi ki chudai""indian sex storues"www.hindisex.com"hindi sexy storis""saxy hot story""sexy story in hindhi""hot sex story""new hindi sexy store""sex hindi stories""suhagrat ki kahani""erotic stories in hindi""chodan .com""desi kahaniya"kamkuta"hindisexy storys""maa aur bete ki sex story""hot hindi sex store""antarvasna gay story""naukrani sex""chachi ki bur""tanglish sex story""chudai ki khaniya""chudai ki khaniya""chikni choot""suhagrat ki chudai ki kahani""chodo story"pornstory"bathroom sex stories""chudai ka nasha""jabardasti sex story""sex kahani"kamkta"kamukta hindi sex story""brother sister sex story""sexcy hindi story""hindi fuck stories""biwi ko chudwaya"indiansexstorie"kamukta com""sex chat in hindi""desi chudai story""hindi latest sexy story""hindi saxy story com""devar bhabhi ki sexy kahani hindi mai""sex hot story in hindi""hot sexy hindi story""hindi sex khani""hindi sex kahanya""read sex story"kamukta."adult stories in hindi""chudai ki kahani in hindi""hot hindi sexy story""sx story""kamuk stories""chudai meaning""sexi hindi story""chudai ki kahani in hindi font"